Tuesday, July 13, 2010

बीवी को घुटने के बल चलाया...

संता सिंह अपने दोस्त बंता सिंह के साथ बार में बैठा शराब पी रहा था, और पिछली रात अपनी बीवी के साथ हुए झगड़े के बारे में बता रहा था...

संता ने बताया कि उसकी बीवी ने उसे गन्दी-गन्दी गालियां भी दीं, और नाकारा, कामचोर भी कहा...

बंता ने अफसोस ज़ाहिर करते हुए कहा, "यार, भाभी ने ऐसा करके ठीक नहीं किया... यह तो सरासर गलत है... खैर, तू यह बता, झगड़ा खत्म कैसे हुआ...?"

संता ने अब सीना फुलाकर कहा, "आखिरकार वह घुटने के बल चलते हुए मेरे पास आई..."

बंता की आंखें हैरानी से फैल गईं, "अरे वाह... यह तो चमत्कार हो गया... खैर, तू यह बता, भाभी ने घुटने के बल तेरे पास आकर कहा क्या...?"

संता ने तपाक से जवाब दिया, "वह बोली, अब पलंग के नीचे से निकल आओ, मैं वादा करती हूं, और नहीं मारूंगी..."

2 comments:

  1. संता सिंह के साथ यह नया प्रयोग! मजा आ गया.

    ReplyDelete

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

कौन हूं मैं...

मेरी पहेलियां...

मेरी पसंदीदा कविताएं, भजन और प्रार्थनाएं (कुछ पुरानी यादें)...

मेरे आलेख (मेरी बात तेरी बात)...