Friday, April 06, 2012

पाकिस्तानी फौजी और हिन्दुस्तानी मेजर संता सिंह...

पाकिस्तान के तीन शीर्ष फौजी अधिकारी हिन्दुस्तान के दौरे पर आए, तो भारतीय सेनाप्रमुख ने उनके सम्मान में एक रात्रिभोज का आयोजन किया, और मेजर संता सिंह को उनकी मेजबानी की जिम्मेदारी सौंपी...

शराब के कई दौर चलने के बाद सभी ने भोजन किया, और उसके बाद अपने-अपने तजुर्बे सुनाने शुरू कर दिए...

कुछ ही देर में तजुर्बों का रुख शादी और सुहागरात तक पहुंच गया, और सबसे पहले पाकिस्तानी जनरल साहब ने कहा, "मैंने अपनी सुहागरात पर अपनी बीवी के साथ छह बार संभोग किया था..."

उनके साथ आए एक ब्रिगेडियर ने चेहरे पर प्रशंसा के भाव लाते हुए मुसाहिबी के अंदाज़ में तपाक से कहा, "वाह जनाब, वाह... वैसे मैंने भी चार बार किया था..."

इसके बाद उन्होंने अपने साथ आए एक कर्नल से अपना अनुभव बताने के लिए कहा, तो वह बोला, "जनाब, मैंने सुहागरात पर अपनी बीवी के साथ दो बार संभोग किया था..."

जनरल और ब्रिगेडियर के चेहरे पर उपहास के भाव आए, और संता की तरफ मुड़कर बोले, "आप भी बताइए, जनाब... हिन्दुस्तानियों का स्टैमिना तो पता चले..."

संता ने झिझकते हुए कहा, "माफ कीजिएगा, जनाब, मैं तो सिर्फ एक ही बार कर पाया था..."

तीनों पाकिस्तानी फौजी अधिकारी ज़ोर से हंसे, और मज़ाक उड़ाते हुए बोले, "क्यों भाई, ऐसा क्यों...?"

संता ने मुस्कुराते हुए कहा, "दरअसल, मेरी बीवी को इस सबकी आदत कतई नहीं थी..."

1 comment:

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

मेरी पहेलियां...

मेरी पसंदीदा कविताएं, भजन और प्रार्थनाएं (कुछ पुरानी यादें)...

मेरे आलेख (मेरी बात तेरी बात)...